गणेश चतुर्थी क्यों मनाई जाती है?

गणेश चतुर्थी क्यों मनाई जाती है?

गणेश चतुर्थी को भगवान गणेश के जन्मदिन के रूप में मनाया जाता है। वह शिव और पार्वती के पुत्र हैं। वैसे तो गणेश चतुर्थी भारत के कई राज्यों में मनाई जाती है, लेकिन महाराष्ट्र के लोग इस त्योहार का बेसब्री से इंतजार करते हैं।

गणेश चतुर्थी क्या है?

गणेश चतुर्थी जिसे विनायक चतुर्थी के नाम से भी जाना जाता है, वास्तव में एक हिंदू त्योहार है। इस त्योहार के दौरान लोग भगवान गणेश की बहुत पूजा करते हैं। गणेश चतुर्थी की शुरुआत वैदिक भजनों, प्रार्थनाओं और हिंदू ग्रंथों जैसे गणेश उपनिषद से होती है। पूजा के बाद गणेश जी को मोदक चढ़ाने के बाद प्रसाद के रूप में लोगों में मोदक का वितरण किया जाता है.

2022 में गणेश चतुर्थी कब है?

गणेश चतुर्थी इस वर्ष 2022 में बुधवार, 31 अगस्त (31/08/2022) को मनाई जाएगी।

गणेश चतुर्थी के मुख्य मंत्र क्या है?

गणेश चतुर्थी में इस्तमाल किये जाने वाले मन्त्रों में से जो सबसे मुख्य है वो है, "  वक्रतुंड महाकाय सूर्यकोटी समप्रभ. निर्विध्नं कुरु मे देव सर्वकार्येषु सर्वदा…  "

किस राजा ने गणेश चतुर्थी की एक सार्वजनिक समारोह घोषित किया था?

मराठा के महाराजा शिवाजी ने गणेश चतुर्थी को एक सार्वजनिक समारोह के रूप में घोषित किया था।

किनके द्वारा गणेश जी की प्रतिमा को सबसे पहले सार्वजनिक स्थान में स्थापित किया गया था?

भाऊसाहेब लक्ष्मण जवाले जी ने ही सबसे पहले गणेश जी की प्रतिमा को सबसे पहले सार्वजनिक स्थान में स्थापित किया था.

किनके द्वारा गणेश जी की प्रतिमा को सबसे पहले सार्वजनिक स्थान में स्थापित किया गया था?

भाऊसाहेब लक्ष्मण जवाले जी ने ही सबसे पहले गणेश जी की प्रतिमा को सबसे पहले सार्वजनिक स्थान में स्थापित किया था.

गणेश चतुर्थी भारत को छोड़कर कैसे और कहाँ मनाया जाता है?

भारत के अलावा, गणेश चतुर्थी का त्योहार थाईलैंड, कंबोडिया, इंडोनेशिया, अफगानिस्तान, नेपाल और चीन में भी मनाया जाता है।