National Pollution Control Day क्यों मनाया जाता है, जानें इसका इतिहास

प्रदूषण किसी भी प्रकार का हो यह पूरी दुनिया के लिए चिंता का विषय है. प्रदूषण हमारे जीवन को बुरी तरह से प्रभावित कर रहा है। मनुष्य, प्रकृति और पूरी दुनिया पर इसका असर देखा जा सकता है।

राष्ट्रीय प्रदूषण नियंत्रण दिवस हर साल 2 दिसंबर के रूप में मनाया जाता है। इस दिन को मनाने का मकसद प्रदूषण से मुक्त होना और लोगों को इसके प्रति जागरूक करना है. ताकि हम अपनी प्रकृति बचा सकें।

WHO के मुताबिक, इस साल की थीम प्रदूषण जागरूकता बढ़ाना और सरकारों को प्रदूषण के प्रभाव को कम करने के लिए नीतियों को समायोजित करने के लिए प्रेरित करना होगा।

Theme of National Pollution Control Day 2022?

 इसका इतिहास 1984 में हुई भोपाल गैस त्रासदी से जुड़ा हुआ है. 1984 में भोपाल में एक इंसेक्टिसाइड प्लांट से लगभग 45 टन मिथाइल आइसोसाइनेट लीक हो गयी और आसपास फैल गयी. इसके कारण हजारों लोगों की उसी समय मौत हो गयी थी. 

History of National Pollution Control Day

Arrow

कई लोगों को इसके कारण कई शारीरिक और मानसिक परेशानियां हुई. हजारों लोगों को उस समय भोपाल छोड़ना पड़ा था. इस दिन को उन लोगों की याद में मनाया जाता है जिन्हों इस त्रासदी में अपनी जान गंवा दी थी.

इस दिन का उद्देश्य लोगों को उन कानूनों से अवगत कराना है जो प्रदूषण को रोकने में मदद करते हैं, और पॉल्यूशन नियंत्रण के बारे में जागरूकता फैलाना और औद्योगिक प्रक्रियाओं और मानवीय लापरवाही के कारण होने वाले प्रदूषण को रोकना है।

Importance of National Pollution Control Day

1. जल प्रदूषण। 2. वायु प्रदूषण। 3. भूमि प्रदूषण। 4. ध्वनि प्रदूषण।

Pollution के चार स्रोत कौन से हैं?

Yellow Star
Yellow Star

Drishyam 2 Box Office Collection

More Stories