जुर्माना माफी के लिए प्रार्थना पत्र | Jurmana Maafi ke liye Prarthna Patra

आज के इस पोस्ट मे हम सिखने वाले है की “जुर्माना माफी के लिए प्रार्थना पत्र | Jurmana Maafi ke liye Prarthna Patra” Hindi Letter for All Class 6, 7, 8, 9, 10 and 12.

मासिक परीक्षा में उपस्थित न होने पर जुर्माना माफ़ी प्रार्थना पत्र।

जुर्माना माफी के लिए प्रधानाचार्य को प्रार्थना पत्र

सेवा में,

 

आदरणीय प्रधानाचार्य जी,

DAV पब्लिक स्कूल,

कानपूर शहर।

विषय : जुर्माना माफ़ी के लिए प्रार्थना पत्र।

 

श्रीमान जी,

सविनय निवेदन यह है कि मैं आपके स्कूल की बारहवीं कक्षा का विद्यार्थी हूँ। मासिक परीक्षा में उपस्थित न होने के कारण हमारे विज्ञान के अध्यापक ने मुझे जुर्माना लगा दिया।

मैं यह बताना चाहूँगा कि मैं परीक्षा के लिए पूर्ण रूप से तैयार था। बदकिस्मती से मेरे माता जी फिसल कर गिर गए। उनके पैर में बहुत चोट आया। उन्हें उसी समय अस्पताल लेकर जाना पड़ा। मेरे पिता जी उस समय शहर से बाहर थे। मुझे उनकी देख-भाल करनी थी। इसलिए मैं स्कूल नहीं आ सका। अध्यापक जी ने मुझे 80.00 रु. का जुर्माना लगा दिया।

इसलिए मैं आपसे बिनती करता हूँ कि कृपया करके मेरा जुर्माना माफ कर दिया जाए।

इसके लिए मैं आपका अति धन्यवादी रहूँगा।

 

धन्यवाद सहित।

आपका विश्वासपात्र,

विनय सिंह।

निष्कर्ष - जुर्माना माफी के लिए प्रार्थना पत्र।

मुझे उम्मीद है कि आपको यह “ जुर्माना माफी के लिए प्रार्थना पत्र।“ ब्लॉग पसंद आया होगा, और यह ब्लॉग पढने के बाद आप खुद से प्रार्थना पत्र लिख लेगे। ब्लॉग पढने के लिए। Thank You

Leave a Comment